Motivational Shayari In Hindi

collection of some best Motivational shayari in Hindi i have heard. They have always motivated me in life. I hope they inspire you too…!!!!

Motivational Shayari In Hindi

साहिल पे पहुंचने से इनकार किसे है लेकिन,
तूफ़ानो से लड़ने का मज़ा ही कुछ और है,
कहते है, कि किस्मत खुदा लिखता है लेकिन,

उसे मिटा के खुद गढ़ने का मजा ही कुछ और है।

सोचने से कहाँ मिलते हैं तमन्नाओं के शहर,
चलना भी जरुरी है मंजिल को पाने के लिए।

समुंदर में उतर लेकिन उभरने की भी सोच
डूबने से पहले… गहराई का अंदाज़ा लगा।

बेहतर से बेहतर कि तलाश करो,
मिल जाये नदी तो समंदर कि तलाश करो,
टूट जाता है शीशा पत्थर कि चोट से,
टूट जाये पत्थर ऐसा शीशा तलाश करो।

आज तेरे लिए वक्त का इशारा है,
देखता ये जहां सारा है,
फिर भी तुझे रास्तों की तलाश है,
आज फिर तुझे मंज़िलो ने पुकारा है।

जो फकीरी मिजाज रखते हैं
वो ठोकरों में ताज रखते हैं,
जिनको कल की फ़िक्र नहीं
वो मुठ्ठी में आज रखते हैं।

माना कि तेरी दीद के क़ाबिल नहीं हूँ मैं
तू मेरा शौक़ देख मिरा इंतिज़ार देख!!

मर्ज ही जिसकी सेहत मर्ज ही जिसका इलाज,
इश्क़ का मरीज क्या जाने कि दवा क्या चीज है!!

रुके रुके से क़दम रुक के बार बार चले
क़रार दे के तेरे दर से बे-क़रार चले!

गुलों में रंग भरे बाद-ए-नौ बहार चले ।
चले भी आओ कि गुलशन का कारोबार चले!!

एक राह रुक गई अगर , तो और जुड़ जाती हैं |
दम हो खुद में अगर , तो राह भी साथ मुड़ जाती है ||

रख भरोसा खुद पर, क्यो ढुंढता है फरिश्ते |
पंछिओ के पास कहाँ होते है नक़्शे, फिर भी ढुंढ लेते है रास्ते…||

उनके लिये सवेरे नही होते ,
जो जिन्दगी मे कुछ भी पाने की उम्मीद छोड चुके हैं !
उजाला तो उनका होता है,
जो बार बार हारने के बाद कुछ पाने की उम्मीद रखे हैं …!!

रख हौंसला वो मंजर भी आयेगा,
प्यासे के पास चलकर समंदर भी आयेगा |
थक कर ना बैठ, एे मंजिल के मुसाफ़िर,
मंजिल भी मिलेगी और जीना का मजा भी आयेगा ||

मंजिल उन्ही को मिलती है, जिनके सपनों में जान होती है |
पंखे से कुछ नहीं होता, हौसलों से उड़ान होती है ||

भगवान जब आप को तराश रहा हो, तो टूट मत जाना,
हिम्मत मत हारना, अपनी रफतार से आगे बढ़ते जाना, मंजिल जरूर मिलेगी ||

मु िश्कलें केवल बहतरीन लोगों के हिस्से में ही आती हैं,
क्योंकि वो लोग ही उन्हे बहतरीन तरीके से अंजाम देने की ताकत रखते हैं ||

मंजिल मिल ही जायेगी एक दिन, भटकते-भटकते ही सही ।
गुमराह तो वो है, जो घर से निकले ही नहीं. ॥॥

Shayari in Hindi

याद हैं तुम्हे ….वो छुअन … वो खुशबू
जो उस रात तुम कमरे में छोड़ कर गयी थी
वो एहसास तुम्हारे होने का
आज भी मेरे साथ आ जाता है
और कभी अकेले नही आया वो
जब आया साथ बहुत सी यादों को ले आता हैं
याद दिलाता हैं वो उस एक लम्हे की
जब शायद इस धरती के दो इंसान सबसे ज्यादा करीब होते है
करीब इतने कि अगर उनके बीच रह पाता हैं कोई तो वो है एहसास
एहसास किसी के साथ होने का …. किसी का सबसे ज्यादा पास होने का
याद मुझे आता हैं वो एक पल
जब बालों को तुम्हे संवारते हुए मैने आईने में पीछे से देखा था
देखा था और पाया कि पीठ पर तुम्हारी
तुम्हारी आँखों के काजल सा ही एक तिल हैं
शायद बनाने वाला भी जान गया था कि वो चीज़ क्या बना रहा हैं
इसीलिए साथ मे ही नज़र से बचने का टीका लगा रहा हैं
याद मुझे आती हैं वो महक
जो तुम्हारे खुले बालों से उस रात आती रही
खुशबू वो तेरे बदन की जो दीवाना बनाती रही
शायद वो तेरे पसीने की सी महक थी
सुना था मैंने कि खूबसूरत लोगो की हर चीज़ ही बडी अच्छी होती हैं
पर उस रात मैं जान भी पाया था
याद मुझे तेरे होठो का वो स्वाद भी आता हैं
और वो जब मैंने अपनी अंगुलिया तेरी पीठ पर फिराई थी
वो तेरे उलझे बालों को यूँ लेटेे हुए ही सुलझाना
वो घूमी हुई सी बातों में अपनी तुझको उलझाना
उलझनों में उलझी हुई सी तू … और बात दिल की तेरा कह जाना
और भी बहुत कुछ ऐसा है जो आज भी मुझे याद आ जाता हैं
और लेटे हुए मुझे वक़्त के उसी लम्हे में ले जाता हैं